Sunday, May 31, 2009

और इस पल को अनमोल बना लो....

सीपी के अंदर छिपा वो छोटा मोती...
या हो मोती की कोई सुंदर लड़ी ,
दुनिया से अलग अपनी पहचान बनाती,
समय की ये चकर-घिन्नी ,
हमेशा ये एहसास दिलाती....
इस पल से अनमोल कुछ भी नहीं...
जो घाव भूत में बने हो, भविष्य उससे अछूता नहीं।
तथापि वर्तमान की है मांग यही...
गलतियों को भूलो मत ....जाने दो...
जिंदगी का ये पल बहुत अनमोल है, इसे अपना बना लो !

4 comments:

Kishore Choudhary said...

बहुत सुन्दर लिखा है, तस्वीर ने इसे और ज्यादा सुन्दर बना दिया है.

Shivi said...

shukriya :)

अनिल कान्त : said...

bahut achchha laga mujhe

भूतनाथ said...

गलतियों को भूलो मत ....जाने दो...
जिंदगी का ये पल बहुत अनमोल है, इसे अपना बना लो !
वो क्या कहते हैं ना...आपकी बाते सर आँखों पर.....सो आज वाही कर रहा हूँ....थैंक्यू.....!!और हाँ....आपके विचार अच्छे हैं....सच....!!अरे हाँ भाई....!!